ऑलराउंडर ड्वेन ब्रावो ने इंटरनेशनल क्रिकेट से लिया संन्यास

खेल । वेस्टइंडीज़ के दिग्गज ऑल-राउंडर ड्वेन ब्रावो ने अंतराष्ट्रीय क्रिकेट से संन्यास की घोषणा कर दी है. 35 साल के इस स्टार ने वेस्टइंडीज़ के लिए 2016 में आखिरी मैच खेला था.

तब से उन्हें राष्ट्रीय टीम में जगह नहीं मिली.ब्रावो ने अपने इंटरनेशनल करियर में 370 मैच खेले जिसमें उन्होंने 6310 रन बनाए. उन्होंने कुल 337 विकेट भी अपने नाम किए. साथ ही ब्रावो ने 149 कैच भी लपके.

दरअसल अपने रिटायरमेंट नोट में ब्रावो ने कहा, ‘आज मैं ये बताना चाहता हूं कि मैं अंतराष्ट्रीय क्रिकेट के सभी प्रारूपों से संन्यास का एलान करने जा रहा हूं. 14 सालों तक अपने देश के लिए खेलना गर्व से भरा रहा. मुझे आज भी याद है जब 14 साल पहले मैंने पहली बार लॉर्ड्स क्रिकेट ग्राउंड पर इंग्लैंड के खिलाफ मरून कैप पहनी थी. उस समय जो जोश और जुनून मैंने महसूस किया वो पूरी करियर में बरकरार रखा.’

बता दें कि ब्रावो ने वेस्टइंडीज़ के लिए 40 टेस्ट, 164 वनडे और 66 टी20 मुकाबले खेले. टेस्ट में उन्होंने 2200 रन और 86 विकेट अपने नाम किए. वहीं वनडे में 2968 रन और 199 विकेट अपने खाते में डाले.वहीं टी20 स्पेशलिस्ट कहे जाने वाले इस ऑल-राउंडर खिलाडी ने यहां भी 1142 रन और 52 विकेटों पर अपना कब्ज़ा जमाया.

इसके अलावा ड्वेन ब्रावो ने अपने करियर में दो बार टी20 वर्ल्ड कप जीता. 2012 और 2016 में ब्रावो वेस्टइंडीज की चैंपियन टीम के हिस्सा रहे.ड्वेन ब्रावो ने आईपीएल टीम चेन्नई सुपरकिंग्स की कामयाबी में भी अहम भूमिका अदा की. उन्होंने 3 में से दो बार आईपीएल चैंपियन चेन्नई सुपरकिंग्स को खिताब जीतने में मदद की. एक बार तो ब्रावो टूर्नामेंट के सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी भी चुने गए.ब्रावो क्रिकेटर के अलावा अच्छे एक्टर और सिंगर भी हैं. ड्वेन ब्रावो तमिल फिल्म उला में भी काम कर चुके हैं. उन्होंने कई मशहूर म्यूजिक वीडियो निकाले हैं जो काफी सफल रहे हैं.

दरअसल ब्रावो 2010 से ही टेस्ट टीम से बाहर चल रहे थे. जबकि वनडे में वो आखिरी बार साल 2014 में दिखे थे. साल 2016 में पाकिस्तान के खिलाफ वो आखिरी टी20 मुकाबले नज़र आए थे.हाल ही में सीपीएल में बेमिसाल प्रदर्शन के बाद उन्हें ऐसी उम्मीद थी कि वो राष्ट्रीय टीम में वापसी कर पाएंगे. लेकिन उन्हें भारत के खिलाफ किसी भी टीम में नहीं चुना गया.