लखनऊ,डॉ शकुंतला मिश्रा विश्वविद्यालय ,छात्राओं को हॉस्टल दिलाने के नाम पर हजारों की ठगी

लखनऊ।डॉ शकुंतला मिश्रा विश्वविद्यालय की प्रथम वर्ष की सात छात्राओं को कॉलेज में हॉस्टल के नाम से कॉलेज के महिला छात्रावास के क्लर्क कर्मचारी ने छात्राओं से हज़ारों रुपयों की ठगी कर लिया।छात्राओं को हॉस्टल न मिलने पर वह अपने को ठगा महसूस होने पर  छात्राओं ने क्लर्क की शिकायत कॉलेज प्रशासन से किया।पांच महीने गुजरने के बाद छात्राओं ने आरोपी के खिलाफ लिखित शिकायत दिए जाने के बाद पुलिस ने आरोपी के खिलाफ मामले को दर्ज न कर जांच करने का हवाला देकर मामले को तरकाऐ जाने आरोप लगाया हैं।

पारा के बुधेश्वर स्थित  डॉ शकुंतला मिश्रा विश्वविद्यालय में प्रथम वर्ष की छात्राओं का आरोप हैं कि18 अगस्त 2018 को विश्वविद्यालय में सात छात्राओं ने ऐडमिशन लिया था। छात्राओं के मुताबिक महिला छात्रावास में तत्कालीन कार्यरत क्लर्क  कर्मचारी मनोज शुक्ला ने प्रथम वर्ष की सात छात्राओं से हॉ स्टल में कमरे के एवज़ में प्रत्येक छात्राओं से 6 हजार पांच सौ रुपए ठग लिए।छात्राओं द्वारा फ़ीस की रसीद मांगने पर छात्राओं को रसीद न देने के बाद टालमटोल करने लगा।छात्राओं के मुताबिक हॉस्टल के नाम से सात छात्राओं से 45हज़ार 5सौ रुपए नगद ठग लिए। प्रथम वर्ष की छात्रा संगीता द्विवेदी निवासी उन्नाव, मिनी सिंह निवासी गोरखपुर, संगीता देवी निवासी गोरखपुर, सुरभि सिंह निवासी लखीमपुर, आकांक्षा वर्मा निवासी लखीमपुर, शालिनी गौतम निवासी रायबरेली, अर्पिता द्विवेदी निवासी बरेली,छात्राओं का आरोप है कि कॉलेज प्रशासन से कई बार छात्राओं ने उक्त कर्मचारी मनोज शुक्ला जो तत्कालीन क्लर्क था हॉस्टल दिलाने के एवज़ में ठगी किए जाने की शिकायत छात्राओं ने छात्रावास चीफ़ प्रोवोस्ट से करने के बावजूद भी कॉलेज प्रशासन ने किसी तरह की कार्यवाही नहीं किया हैं।पीड़ित छात्राओ ने आरोपी मनोज शुक्ला पर फोन कर धमकियां दिए जाने का आरोप लगाया है।छात्राओं ने आरोपी के खिलाफ मोहान रोड चौकी पर लिखित शिकायत 24 जनवरी 2019 को देने के बावजूद पुलिस मामले की जाँच पड़ताल किए जाने का हवाला देते हुए। मामले को टालने का आरोप छात्राओं ने लगाया है ।